बुधवार व्रत विधि एवं कथा - Wednesday Fast Method and Katha
(BUDHVAR Vrat Vidhi and Katha)

बुद्धि, जुबान एवं व्यापार मनुष्य के जीवन के तीन मुख्य आधार स्तंभ हैं,जो कि बुध देव कि कृपा पर निर्भर हैं। बुधवार का व्रत करने से व्यक्ति की बुद्धि में वृ्द्धि होती है। इसके साथ ही व्यापार में सफलता प्राप्त करने के लिये भी इस व्रत को विशेष रुप से किया जाता है। व्यापारिक क्षेत्र की बाधाओं को दूर करने में भी यह व्रत लाभकारी रहता है। इसके अतिरिक्त जिन व्यक्तियों की कुण्डली में बुध अपने फल देने में असमर्थ हो, उन व्यक्तियों को यह व्रत विशेष रुप से करना चाहिए। अथवा जिनके कुण्डली में बुध अशुभ भावों का स्वामी होकर अशुभ भावों में बैठा हो, उस अवस्था में भी इस व्रत को करना कल्याणकारी रहता है।

Wisdom, Voice and Business are three main pillars of Human beings life, which totally depend on the compassion of BUDH Dev. Wednesday fast increase wisdom of man .This fast has specially keep developing and getting success in business. It also removes obstacles of downtown .Those people who’s mercury planet has less powerful and can’t not gave best result as per horoscope , have to keep Wednesday fast and get benefitted with Budh dev.
ग्रह शांति तथा सर्व-सुखों की इच्छा रखने वालों को बुद्धवार का व्रत करना चाहिये। इस व्रत में दिन-रात में एक ही बार भोजन करना चाहिए। इस व्रत के समय हरी वस्तुओं का उपयोग करना श्रेष्ठतम है। इस व्रत के अंत में शंकर जी की पूजा, धूप, बेल-पत्र आदि से करनी चाहिए। साथ ही बुद्धवार की कथा सुनकर आरती के बाद प्रसाद लेकर जाना चाहिये। इस व्रत का प्रारंभ शुक्ल पक्ष के प्रथम बुद्धवार से करें, 21 व्रत रखें। बुद्धवार के व्रत से बुध ग्रह की शांति तथा धन, विद्या और व्यापार में वृद्धि होती है। बुधवार का व्रत करने की विधि।
People should do the Wednesday fast to calm their mercury with all pleasures. You have to take food only once in a day during Wednesday fast. It is best to use green colored materials during fast. Devotees should worship God Shankar, then listen Wednesday vrat katha followed by aarati and distribute prasad to present people. This fast should be started from first Wednesday of shukla paksh(darker fortnight) .You should keep at least 21 vrat of this fast.It increases your wisdom, knowledge, business and removes your mercury planet related problems.

बुधवार व्रत पूजा की सामग्री:- Wednesday Fast worship materials
(Budhvar vrat pujan saamagree)

• अक्षत - Rice/Akshat ( unbrokable rice coloured with red colour)
• कलश - Earthen pot (Filled with pure water and miX some drops of ganga jal)
• भगवान शंकर या गणेश जी की मूर्ती - Statue or Picture of God Shankar or Budh Dev
• ताम्र पत्र - Bronzeware/ bronze plate
•जल - Water
• धूप - Dhoop
• चार मुख वाला दीपक - Lamp (with the four faces)
• गंगा जल - Holy water/Ganga Jal
• फूल - Flower
• इत्र -Scent
• चंदन - Sandalwood
• मिठाई - Sweets
• गुण - Molasses
• चावल -Rice (cooked)
• दही - Curd

बुधवार व्रत पूजा विधि:-

बुधवार के दिन प्रात:काल उठकर नित्य-क्रम कर स्नान कर लें। हरा वस्त्र धारण करें। पूजा गृह को स्वच्छ कर शुद्ध कर लें। सभी सामग्री एकत्रित कर लें। कास्य के पात्र में बुध भगवान की प्रतिमा स्थापित करें। आसन पर बैठ जायें।

संकल्प

किसी भी पूजा या व्रत को आरम्भ करने के लिये सर्व प्रथम संकल्प करना चाहिये। व्रत के पहले दिन संकल्प किया जाता है। उसके बाद आप नियमित पूजा और वत करें। सबसे पहले हाथ में जल, अक्षत, पान का पत्ता, सुपारी और कुछ सिक्के लेकर निम्न मंत्र के साथ संकल्प करें:‌ -

budhvar vrat katha

सभी वस्तुएँ बुध भगवान के पास छोड़ दें।
अब दोनों हाथ जोड़कर बुध भगवान का ध्यान निम्न मंत्र करें।
बुध त्वं बुद्धिजनको बोधद: सर्वदा नृणाम्।
तत्वावबोधं कुरुषे सोमपुत्र नमो नम:॥
सबसे पहले बुध भगवान पर जल समर्पित करें।
चंदन से भगवान को तिलक लगायें एवं तिलक पर अक्षत लगायें।
पुष्प एवं पुष्पमाला अर्पित करें।
बेल-पत्र चढ़ायें।
धूप अर्पित कर,दीप दिखायें।
भगवान को भोग के रूप में फल और मिष्ठान अर्पित करें।
इसके बाद बुधवार व्रत कथा को पढ़े अथवा सुने। ध्यान रखें कम-से-कम एक व्यक्ति इस कथा को अवश्य सुने। कथा सुनने वाला भी शुद्ध होकर स्वच्छ वस्त्र धारण कर पूजा स्थल के पास बैठे। तत्पश्चात बुध भगवान की आरती करें । उपस्थित जनों को आरती दें और स्वयं भी आरती लें। सभी उपस्थित जनों में प्रसाद वितरित करें। स्वयं के लिये थोड़ा रख लें। शाम को व्रत खोलते समय सबसे पहले प्रसाद ग्रहण करें। उसके बाद हरी वस्तुओं से बने भोजन का सेवन करें।