मोहिनी एकादशी व्रत विधि एवं कथा - Mohini Ekadashi Vrat Vidhi and Katha in Hindi

वैशाख मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी को मोहिनी एकादशी कहते हैं। यह व्रत इस वर्ष, २०१७ में ०६ मई (शनिवार) [06 May (Saturday) 2017] को है। इस एकादशी व्रत के प्रभाव से मनुष्य सभी प्रकार के मोह-माया से मुक्त होकर मोक्ष को पाता है।

मोहिनी एकादशी व्रत महात्म्य:- (Importance of Mohini Ekadashi)

इस व्रत के करने से मेरूपर्वत के समान किये गये पाप भी नष्ट हो जाते हैं। यह मनुष्य को सांसारिक मोह-माया के जाल से मुक्त करता है और स्वर्ग की प्राप्ति करवाता है । इस मोहिनी एकादशी के व्रत का पालन कर मनुष्य अपने सभी दु:खों से छुटकारा पा सकता है।

मोहिनी एकादशी व्रत पूजन सामग्री:- (Puja Saamagree for Mohini Ekadashi Vrat)

• श्री विष्णु जी की मूर्ति
• कलश (मिट्टी अथवा ताम्बे का)
• धान्य
• वस्त्र (एक लाल और एक श्वेत)
• पुष्प
• पुष्पमाला
• नारियल
• सुपारी
• अन्य ऋतुफल
• धूप
• दीप
• घी
• पंचामृत (दूध (कच्चा दूध), दही, घी, शहद और शक्कर का मिश्रण)
• अक्षत
• तुलसी दल
• चंदन
• मिष्ठान

मोहिनी एकादशी व्रत की विधि (Puja Method Of Mohini Ekadashi)

Mohini Ekadashi Vrat Vidhi