मंगलवार व्रत उद्यापन विधि:-(Mangalvar Vrat Udyapan Vidhi) Page 1/10

मंगलवार का २१ व्रत रखने के बाद व्रत २२वें मंगलवार को उद्यापन करना चाहिये अथवा व्रत शुरु करने के पहले जितने व्रत का संकल्प लेते हैं, उतना पूर्ण होने पर अथवा मनोवांछित इच्छा पूरी होने पर मंगलवार व्रत का उद्यापन करना चाहिये। यदि व्रत का उद्यापन शुक्ल पक्ष में किया जाय तो अच्छा माना गया है।

मंगलवार व्रत उद्यापन के लिये पूजा सामग्री:-

∗ हनुमान जी(मंगलदेव) की मूर्ति या चित्र
∗ चौकी या लकड़ी का पटरा
∗ शुद्ध जल
∗ धूप – १ पैकेट
∗ दीप ( चार मुख वाला)- १
∗ गंगाजल
∗ लाल फूल
∗ इत्र - १ शीशी
∗ लाल चंदन-
∗ लाल धान्य के बने हुये व्यंजन( यदि धान ना हो तो गेहूं या मैदे से बना हुआ मीठा व्यंजन)
∗ लड्डु(शुद्ध घी में बने हुये)- १.२५ किलो
∗ लाल वस्त्र – १.२५ मीटर ( ३- एक चौकी पर बिछाने के लिये ,एक आसन के लिय और एक हनुमान जी के लिये)
∗ यज्ञोपवीत-१ जोड़ा
∗ पंचामृत (गाय का कच्चा दूध, दही,घी,शहद एवं शर्करा मिला हुआ)- ५० ग्राम
∗ पान (डंडी सहित)- २
∗ सुपारी- ३
∗ ऋतुफल - १.२५ किलो
∗ रोली- १ पैकेट
∗ मौली- १ गोला
∗ चावल/अक्षत ( लाल रंग से रंगे हुए) – २५० ग्राम
∗ अक्षत - १०० ग्राम
∗ घी -१०० ग्राम
∗ आचमनी- १
∗ पंचपात्र- १
∗ लोटा- १
∗ ऊन का आसन- १
∗ लाल सिंदूर- १ पैकेट
हवन के लिये:-
∗ हवन सामग्री- १ बड़ा पैकेट
∗ तिल – १०० ग्राम
∗ जौ- १०० ग्राम
∗ घी- १.२५ किलो
∗ आम की लकड़ी- १.२५ किलो
∗ हवन कुण्ड- १
दान के लिये:-
∗ गेहूं- १.२५ किलो
∗ मसूर- १.२५ किलो
∗ गुड़- १.२५ किलो
∗ लाल वस्त्र- १.२५ मीटर
∗ तिल गुड़ मिश्रित लड्डू- २१

मंगलवार व्रत उद्यापन पूजन विधि:- (Mangalvar Vrat Udyapan puja method)

प्रात:काल उठकर नित्य कर्म कर स्नान कर लें। लाल वस्त्र धारण करें। पूजा स्थल को साफ कर गंगाजल से शुद्ध कर लें। सभी पूजन सामग्री एकत्रित कर ऊन के आसन पर पूर्व मुख करके बैठ जायें।चौकी पर लाल वस्त्र बिछायें। लाल चावल से अष्टदल कमल बनायें। उस पर मंगल देव की प्रतिमा स्थापित करें।

सबसे पहले अपने आप को शुद्ध करने के लिये पवित्रीकरण करें।
पवित्रीकरण
हाथ में जल लेकर मंत्र –उच्चारण के साथ अपने ऊपर जल छिड़कें:-

tuesday fast vrat udyapan vidhi in hindi