बुधवार व्रत उद्यापन विधि
Budhvar Vrat Udyapan Vidhi in Hindi Page 1/6

२१ या जितना आपने व्रत शुरु करने के समय संकल्प किया उतना व्रत करने के बाद बुधवार व्रत का उद्यापन करें।

बुधवार व्रत उद्यापन विधि पूजन सामग्री

बुध भगवान की मूर्ति – १
कांस्य का पात्र -१
चावल/अक्षत – २५० ग्राम
धूप – १ पैकेट
दीप - २
गंगाजल
फूल
लाल चंदन- – १ पैकेट
गुड़
हरा वस्त्र -१.२५मीटर (२)
यज्ञोपवीत- १ जोड़ा
रोली
गुलाल
नैवेद्य(मूंग दाल से बनी हुई)
जल पात्र
पंचामृत (कच्चा दूध, दही, घी,मधु तथा शक्कर मिलाकर बनायें)
पान - २
सुपारी- २
लौंग– १ पैकेट
इलायची- – १ पैकेट
ऋतुफल
कपूर
आरती के लिये पात्र

हवन की सामग्री

हवन कुंड
आम की लकड़ी १.२५ किलो
हवन सामग्री- १पैकेट

बुधवार व्रत उद्यापन विधि
Budhvar Vrat Udyapan Vidhi in Hindi Page

बुधवार के दिन प्रात:काल उठकर नित -क्रम कर स्नान कर लें। हरा वस्त्र धारण करें। पूजा गृह को स्वच्छ कर शुद्ध कर लें। सभी सामग्री एकत्रित कर लें। लकड़ी के चौकी पर हरा वस्त्र बिछायें । कांस्य का पात्र रखें । पात्र के ऊपर बुध देव की प्रतिमा को स्थापित करें । सामने आसन पर बैठ जायें। सभी पूजन सामग्री एकत्रित कर बैठ जायें।

पवित्रीकरण

सर्वप्रथम हाथ में जल लेकर मंत्र के द्वारा अपने ऊपर जल छिड़कें:-
ॐ पवित्रः अपवित्रो वा सर्वावस्थांगतोऽपिवा।
यः स्मरेत्‌ पुण्डरीकाक्षं स वाह्यभ्यन्तर शुचिः॥
इसके पश्चात् पूजा कि सामग्री और आसन को भी मंत्र उच्चारण के साथ जल छिड़क कर शुद्ध कर लें:-
पृथ्विति मंत्रस्य मेरुपृष्ठः ग षिः सुतलं छन्दः
कूर्मोदेवता आसने विनियोगः॥