मार्गशीर्ष शुक्ला षष्ठी पुजा विधि एवं कथा । skanda sashti puja vidhi

मार्गशीर्ष शुक्ला षष्ठी को गंध, पुष्प, अक्षत, फल, वस्त्र, आभूषण तथा भाँति-भाँति के नैवेद्यों द्वारा स्कन्द की पूजा करें। उस दिन किया हुआ स्नान-दान आदि सब शुभ कर्म अक्षय होता है। मार्गशीर्ष शुक्ला षष्ठी , १३ दिसम्बर (बृहस्पतिवार) २०१८ को है।